Entertainment

Ranveer Singh Praises South Indian Film Industry Movies Pushpa And RRR

Ranveer Singh Praises South Indian Film Industry Movies Pushpa And RRR
Written by Arindam

Ranveer Singh On South Movies: भाषा को लेकर छिड़ी बहस के बीच अभिनेता रणवीर सिंह ने दक्षिण भारतीय फिल्म पुष्पा और आरआरआर की जमकर तारीफ की है. रणवीर सिंह इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म जयेशभाई जोरदार के प्रमोशन में जोरदार तरीके से जुटे हुए हैं. इस बीच उन्होंने एक इंटरव्यू में भाषा पर छिड़े ताज़ा विवाद पर अपनी राय ज़ाहिर करते हुए दक्षिण भारतीय फिल्मों की जमकर तारीफ की. 

रणवीर सिंह ने एक एंटरटेनमेंट वेबसाइट से बात करते हुए कहा, “मैंने पुष्पा देखी, मैं तेलुगू नहीं बोलता. मैंने आरआरआर देखी, मैं वो भाषा नहीं बोलता, लेकिन मैं इन फिल्मों को और इनके क्राफ्ट को देखकर हैरान रह गया. मैं बस ये कह सकता हूं कि फिल्म में जो दिखाया गया है मैं क्राफ्ट में उस उत्कृष्टता की सराहना करता हूं और मुझे इस बात पर गर्व है कि वो कितने शानदार तरीके से ये कर रहे हैं और उन्हें अलग अलग तरह के दर्शक पसंद कर रहे हैं. ये मुझे बहुत, बहुत गर्वित करता है क्योंकि मैंने कभी इन फिल्मों को दूसरों के रूप में नहीं देखा है. ये तो सब अपना ही है यार. इंडियन सिनेमा एक है.

आपको बता दें कि कुछ सालों से साउथ की फिल्में हिंदी पट्टी के दर्शकों को खूब पंसद आ रही हैं. तेलुगू, कन्नड़ और तमिल भाषा की फिल्मों के डब वर्ज़न हिंदी पट्टी में शानदार कारोबार कर रहे हैं. बाहुबली, बाहुलबली 2, 2.0, आरआरआर, पुष्पा, केजीएफ और केजीएफ 2 जैसी फिल्मों ने हिंदी में ज़बरदस्त सफलता हासिल की है. केजीएफ 2 के हिंदी वर्ज़न ने तो सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए. 

इन सब के बीच पिछले दिनों भाषा को लेकर नया बखेड़ा शुरू हो गया. दरअसल कन्नड़ एक्टर किच्चा सुदीप ने कहा कि हिंदी अब राष्ट्रभाषा नहीं रही. किच्चा के इस बयान पर अजय देवगन ने पलटवार किया. जिसके बाद से भाषा को लेकर कई सितारों के बयान आ चुके हैं. बीते रोज़ तेलुगू अभिनेता महेश बाबू ने कहा कि बॉलीवुड उन्हें अफॉर्ड नहीं कर सकता. उनके भी इस बयान से विवाद खड़ा हो गया है.

Kareena Kapoor Khan in West Bengal: अपने पहले OTT प्रोजेक्ट की शूटिंग के लिए पश्चिम बंगाल, वहां से शेयर की ये खूबसूरत तस्वीर

Postpartum Depression: नेहा धूपिया ने किया खुलासा, वजन बढ़ने के कारण 8 महीने रही थीं डिप्रेशन का शिकार!

About the author

Arindam

Leave a Comment